fbpx
Home / Life Style / Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan In Hindi || Harmful Effects Of Eating Raw Garlic In Hindi

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan In Hindi || Harmful Effects Of Eating Raw Garlic In Hindi

हेलो दोस्तों : अक्सर लोग कहते हैं।  कि मुझे तो की गंध पसंद नहीं है।  लेकिन हम आज आपको बताएँगे कि “Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan In Hindi, Harmful Effects Of Eating Raw कैसे होता है।  आप लोग को ये बता दूँ।  की Lahsun Khane से क्या Fayda है और क्या Nuksan होता है।  जैसे की आप सब जानते है।  की Lahsun का उपयोग हमारे घरों में खाने की चीजें में की जाती है लेकिन क्या आप ये जानते है।  कि  Lahsun Khane Ke Kitne Fayde Hote Hai  और Lahsun Khane Ke Kitne Nuksan अगर आप ये नहीं जानते है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।  और जाने की Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan के बारे में पूरी जानकारी Hindi में।

कच्चे लहसुन खाने के फायदे और नुकसान

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan

आपने अपने आस – पास के लोगों से अक्सर सुना होगा कि  उसे Lahsun की गंध पसंद नहीं है।  अगर उसमे से आप भी है।  तो आप अपना सोच बदल दीजिये , क्यों की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप भी Lahsun का सही उपयोग करना स्टार्ट कर दोगे।  आदरसल आज हम जो आपको बताने वाले है वो हम नहीं बल्कि , यह जापानी वैज्ञानिकों का कहना है।  जापानी वैज्ञानिकों का कहना है , कि  लहसुन को अपने रसोई का अभिन्न अंग बना लें।  और साथ में Lahsun का उपयोग अपने भोजन में प्रतिदिन शामिल करें।  लहसुन हमारी सेहत को दुरुस्त रखने के लिए यह कुदरत का दिया हुआ अनमोल उपहार है।

जापानी वैज्ञानिकों का कहना है।  कि  भले ही आप लहसुन की तेज गंध और तीखा स्वाद आपको पसंद ु हो , लेकिन लहसुन को अपने भोजन में शामिल करके आप न केवल हृदय सम्बंधित समस्याओं से बच सकते है बल्कि लहसुन का सेवन से अनेकों प्रकार के कैंसर से भी बच सकते है।

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan In Hindi || Harmful Effects Of Eating Raw Garlic In Hindi

इन वैज्ञानिकों का कहना यह भी है, कि इस शोध के लिए उसने करीब एक हजार लोगों पर कई  साल तक रिसर्च किया, और उस रिसर्च से ये पता चला कि,  जो लोग प्रतिदिन नियामत रूप से संतुलित मात्रा में लहसुन का सेवन करते आ रहे थे।  उन्हें न हृदय सम्बन्धी समस्यायों का सामना करना पड़ा और न ही उनके शरीर में कैंसर पैदा करने वाला कोई बीमारी बढ़ी और रिसर्च से ये भी पता चला कि , जो लोग लहसुन का सेवन करते रहते है।  वे लोग विभिन्न प्रकार के प्रदुषण से होने वाली अनेकों बीमारी से भी बचे रहते है।

आप जानते है कि  अभी के दौर में प्रदुषण के कारण भी कई प्रकार की बीमारी से लोग जूझ रहे है।  टोक्यो के एक जनरल में दिखाई गई रिपोर्ट के अनुसार जापानी वैज्ञानिकों का कहना है।  कि  खाना बनाते समय उपयोग किये गए लहसुन की तुलना में , भोजन के साथ कम से कम दिन में एक बार दो – तीन कल्ली कच्चे लहसुन को खाना चाहिए हमरे शरीर के लिए फायदेमंद होता है।

Lahsun Khane Se Kya  Fayde Hai?

1 सर्दी और खांसी से राहत

लहसुन खाने से आपको सर्दी और खाँसी से राहत मिलती है।  तथा लहसुन खाने से आपको सांस सम्बंधित बीमारी नहीं होती है।  जैसे सर्दी , खांसी , झुखाम , निमोनियाँ , अस्थमा इस तरह की बीमारी में लहसुन घरेलु नुक्से की तरह काम करता है।

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan

2 दातों की दर्द से मुक्ति

लहसुन में Antibactrial मौजद होते है।  जिससे आपको डेंटन की दर्द से छुटकारा दिलाता है।  अगर आपको दातों में दर्द है।  तो लहसुन की एक कल्ली को पेस्ट बनाकर दर्द वाली जगह पे लगा दें, आपको दर्द से थोड़ी ही देर में राहत मिल जायेगा।

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan

3 टेंशन से  मुक्ति दिलाता है

लहसुन का प्रतिदिन सेवन करने से आपको टेंशन भागने का काम करती है।  लहसुन और हम कई बार ये भी देखते है।  कि पेट में एसिड बनने के कारण  हमे घबराहट होती है इससे लहसुन बहुत काम आते है, क्यों कि लहसुन एसिड को कम करता है।

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan

4 हृदय के रोगों से छुटकारा

लहसुन को प्रतिदिन अपने भोजन  में शामिल करने से आपको ह्रदय रोग से बचता है, लहसुन

5 कैंसर से छुटकारा

प्रतिदिन लहसुन की दो या तीन कल्ली का सेवन करने से लहसुन हमे कई तरह के कैंसर से बचता है।  और भी बहुत सारे ऐसी बीमारियों को होने से लहसुन बचता है।

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan

Lahsun Khane Se Kya  Nukasan  Hai?

1 ब्लीडिंग डिसऑर्डर

लहसुन की अधिक मात्रा में सेवन करने से आपको ब्लीडिंग हो सकती है।  तो आप ध्यान रखें की लहसुन कहते समय लहसुन की सही मात्रा में ही उपयोग करें।

2 त्वचा के लिए हानिकारक हो सकता है।

कभी भी लहसुन का पेस्ट बनाकर अपने त्वचा पे न लगाएं अन्यथा आपको इससे काफी नुकसान हो सकता है।  जैसे की आपकी त्वचा जलने की तरह की नुकसान हो सकता है।


3 गर्भवस्था और स्तनपान में नुकसानदेह  हो सकता है।

जैसे की हम सभी जानते है।  लहसुन का प्रतिदिन भोजन में उपयोग करने से गमारे शरीर के लिए फायदेमंद है।  लेकिन आप अगर गर्भवस्था में है।  तो लहसुन का उपयोग  न करें।

4 बच्चों के लिए हानिकारक हो सकता है

बच्चों को उचित रूप से ही लहसुन की थोड़ी सी मात्रा में ही सेवन कराये ये सुरक्षित होता है।  अगर अधिक मात्रा में बच्चों को लहसुन खिलने पर असुरक्षित हो जाता है।  अधिक मात्रा में बच्चों को लहसुन खिलने पर काफी घातक हो सकता है।

5 थाईराइड के लिए हानिकारक है।

कुछ वैज्ञानिकों से यह पता चला है।  कि  थाईराइड और थाईराइड हार्मोन के विभिन्न अस्तर में काम आयोडिन का अवशोषण लहसुन के साथ होता है।  लेकिन कुछ अन्य शोधकर्ताओं के अनुसार लहसुन को थाईराइड के पिंड या ट्यूमर से जोड़ा जा सकता है।

Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan In Hindi || Harmful Effects Of Eating Raw Garlic In Hindi

Also Read:

Ways to Treat Shoulder Pain That Work
Top 10 Best Health Tips 
How To Beat Depression With A “Novel” Approach
Reasons More People Are Getting Braces Today

Weight Loss & Diet Best Ideas For Healthy Body

तो आशा करता हूँ।  की आपको पता चल गया होगा कि , “Lahsun Khane Ke Fayde Or Nuksan In Hindi, Harmful Effects Of Eating Raw Garlic In Hindi “ क्या – क्या होता है।  अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं।  अगर आपको इस पोस्ट को ज्यादा – से ज्यादा शेयर करें।  और हमे फॉलो जरूर करें।  Facebook ,

 

About Techtrickonline

Avatar
नमस्कार दोस्तों : मै Ravindra Singh, TechTrick Online का Technical Author & Co-Founder हूँ। औपचारिक तौर पर मै अपना Graduation LNMU से पूरा किया। और मै पेसे से एक Web Designer And Graphics Designer हूँ। मुझे नई नई Technology सीखना और दूसरों को सीखना अच्छा लगता है। बस आप लोगों से एक Request है। की आप लोग हमारा साथ इसी तरह से देते रहे। और हमे फॉलो जरूर करें। हम आपके लिए इसी तरह के नयी नयी जानकारी देते रहेंगे।

Check Also

How To Best Healthy Eating Plan For Your Fitness Program

Follow these “Healthy Eating Plan For Your Fitness Program ”  tips and fitness strategies to help you reach your goals …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *